0.7 C
New York City
January 24, 2020
मनोरंजन

रातों-रात बने रजनीकांत साउथ के सुपरस्टा

मनोरंजन (giltv) बतौर बस कंडक्टर अपने करियर की शुरुआत कर दक्षिण भारतीय फिल्मों के महानायक बनने वाले रजनीकांत को यह मुकाम पाने के लिये कड़ा संघर्ष करना पड़ा।साल 1950, 12 दिसंबर को बैंगलूरु में जन्में रजनीकांत मूल नाम शिवाजी राव गायकवाड बचपन के दिनों से ही फिल्म अभिनेता बनना चाहते थे। शुरूआती दौर में रजनीकांत ने बस कंडक्टर के रूप में काम किया। इस दौरान रजनीकांत ने रंगमंच पर कुछ नाटकों में अभिनय भी किया।इसी दौरान तमिल फिल्मों के मशहूर निर्देशक के.बालचन्द्र एक नाटक में रजनीकांत के अभिनय से काफी प्रभावित हुये। वर्ष 1975 में के.बालचंद्र के निर्देशन में बनी तमिल फिल्म अपूर्वा रागांगल से रजनीकांत से अपने सिनेमा करियर की शुरुआत की। इस फिल्म में कमल हासन ने मुख्य भूमिका निभायी थी।वर्ष 1978 में प्रदर्शित तमिल फिल्म भैरवी में रजनीकांत को बतौर मुख्य अभिनेता के रूप में पहली बार काम करने का अवसर मिला। यह फिल्म टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुयी साथ ही रजनीकांत भी सुपरस्टार बन गये। वर्ष 1980 में रजनीकांत की एक और सुपरहिट फिल्म बिल्ला प्रदर्शित हुयी। बिल्ला अमिताभ की सुपरहिट फिल्म डॉन की रिमेक थी।वर्ष 1983 में प्रदर्शित फिल्म अंधा कानून के जरिये रजनीकांत ने बॉलीवुड में भी कदम रख दिया। इस फिल्म में रजनीकांत की भूमिका ग्रे शेडस लिये हुये थी। दर्शकों को रजनीकांत का अंदाज काफी पसंद आया। अंधा कानून टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुयी। इसी दौरान रजनीकांत ने जॉन जॉनी जनार्दन में तिहरी भूमिका निभायी हालांकि यह फिल्म टिकट खिड़की पर कोई करिश्मा नहीं दिखा सकी।

Related posts

ऐश्वर्या ने अपनी मैरिड लाइफ को लेकर किए बड़े खुलासे

GIL TV News

सैफ अली खान के ‘कॉन्सेप्ट ऑफ इंडिया’ वाले बयान पर भड़कीं कंगना रनौत

GIL TV News

दूसरी बार मामा बने सलमान खान

GIL TV News

Leave a Comment